ईसाई विद्वान बाइबिल में मतभेदों को पहचानते हैं (7 का भाग 5): थोड़ा अधिक ईमानदार होने की शुरुआत

रेटिंग:
फ़ॉन्ट का आकार:
A- A A+

विवरण: बाइबल के कुछ नए अनुवादों में अब अंतर्विरोधों और सन्दर्भों की शंका का उल्लेख होने लगा है।

  • द्वारा Misha’al ibn Abdullah (taken from the Book: What Did Jesus Really Say?)
  • पर प्रकाशित 04 Nov 2021
  • अंतिम बार संशोधित 04 Nov 2021
  • मुद्रित: 0
  • देखा गया: 8,536 (दैनिक औसत: 9)
  • रेटिंग: अभी तक नहीं
  • द्वारा रेटेड: 0
  • ईमेल किया गया: 0
  • पर टिप्पणी की है: 0
खराब श्रेष्ठ

खैर, ये सभी बाईबिल कहाँ से आती हैं और ईश्वर के एक "प्रेरित" शब्द को परिभाषित करने में कठिनाई क्यों है? वे "प्राचीन हस्तलिपियों" (जिसे एमएसएस भी कहा जाता है) से आते हैं। आज ईसाई जगत में बाइबिल की 24,000 से अधिक "प्राचीन हस्तलिपियां" हैं, जो ईसा के बाद चौथी शताब्दी तक की हैं (लेकिन मसीह या स्वयं ईसई धर्म का प्रचारकों के समय की नहीं है)। दूसरे शब्दों में, हमारे पास ऐसे इंजील हैं जो उस शताब्दी के हैं जब त्रिमूर्तिवादीयों ने ईसाई चर्च पर अधिकार कर लिया था। इस अवधि से पहले की सभी हस्तलिपियां अजीब तरह से नष्ट हो गई हैं। आज मौजूद सभी बाइबल इन “प्राचीन हस्तलिपियों” से संकलित हैं। बाइबल के सभी विद्वान हमें बता सकते हैं कि कोई भी दो प्राचीन हस्तलिपियां बिल्कुल एक जैसी नहीं हैं।

लोग आज आम तौर पर मानते हैं कि बाइबल के किसी भी छंद का केवल एक बाइबिल और एक संस्करण है। यह सच नहीं है। आज मौजूद सभी बाइबल (जैसे केजेवी, एनआरएसवी, एनएबी, एनआईवी,...आदि) इन विभिन्न हस्तलिपियों में व्यापक रूप से हटाने और जोड़ने का परिणाम हैं, जिनमें से कोई भी निश्चित संदर्भ नहीं है। ऐसे अनगिनत मामले हैं जहां एक "प्राचीन हस्तलिपि" में एक अनुच्छेद होता है लेकिन कई अन्य में नहीं होता। उदाहरण के लिए, मरकुस 16:8-20 (पूरे बारह छंद) आज उपलब्ध सबसे प्राचीन हस्तलिपियों से पूरी तरह से गायब हैं (जैसे कि सिनैटिक हस्तलिपि, वेटिकन #1209 और अर्मेनियाई संस्करण) लेकिन हाल ही में "प्राचीन हस्तलिपियों" में है।" ऐसे कई प्रलेखित मामले भी हैं जहां भौगोलिक स्थान भी एक प्राचीन हस्तलिपि से दूसरी हस्तलिपि में पूरी तरह भिन्न हैं। उदाहरण के लिए, "सामरी पेंटाटेच हस्तलिपि" में, व्यवस्थाविवरण 27:4 "गेरिजिम पर्वत" के बारे में है, जबकि "हिब्रू हस्तलिपि" में ठीक यही छंद "एबाल पर्वत" के बारे में है। व्यवस्थाविवरण 27:12-13 में हम देख सकते हैं कि ये दो अलग-अलग स्थान हैं। इसी तरह, कुछ "प्राचीन हस्तलिपियों" में लूका 4:44 में "यहूदिया के आराधनालय" का उल्लेख है, अन्य में "गलील के आराधनालय" का उल्लेख है। यह केवल एक नमूना है, एक व्यापक सूचीकरण के लिए हर एक पुस्तक की आवश्यकता होगी

बाइबिल में ऐसे अनगिनत उदाहरण हैं जहां एक संदिग्ध प्रकृति के छंदों को बिना किसी अस्वीकरण के पाठ में शामिल किया गया है, जिसमें पाठक को बताया गया है कि कई विद्वानों और अनुवादकों को उनकी प्रामाणिकता के बारे में गंभीर आपत्ति है। बाइबल का किंग जेम्स संस्करण ("अधिकृत संस्करण" के रूप में भी जाना जाता है), जो आज अधिकांश ईसाईजगत के हाथों में है, इस संबंध में सबसे कुख्यात में से एक है। यह पाठक को ऐसे छंदों की संदिग्ध प्रकृति के बारे में बिल्कुल कोई सुराग नहीं देता है। हालाँकि, बाइबल के हाल के अनुवाद अब इस संबंध में कुछ अधिक ईमानदार और आगामी होने लगे हैं। उदाहरण के लिए, ऑक्सफोर्ड प्रेस द्वारा बाइबिल के नए संशोधित मानक संस्करण ने दोहरे वर्ग कोष्ठक ([[ ]]) के साथ इस तरह के संदिग्ध छंदों के सबसे स्पष्ट उदाहरणों को कोष्ठक में रखने की एक अत्यंत सूक्ष्म प्रणाली को अपनाया है। इसकी संभावना बहुत कम है कि अनौपचारिक पाठक को इन कोष्ठकों का मतलब समझ आये। जो पाठक जानकारी रखते हैं, यह उनको बताने के लिए हैं कि संलग्न छंद अत्यधिक संदिग्ध प्रकृति के हैं। इसके उदाहरण यूहन्ना 8:1-11 में "व्यभिचार करने वाली स्त्री" की कहानी है, साथ ही मरकुस 16:9-20 (यीशु का पुनरुत्थान और वापसी), और लूका 23:34 (दिलचस्प बात यह है कि यह यशायाह 53:12 की भविष्यवाणी की पुष्टि करने के लिए है) .... और भी बहुत।

उदाहरण के लिए, यूहन्ना 8:1-11 के संबंध में, इस बाइबिल के टिप्पणीकार पृष्ठ के निचले भाग में बहुत छोटे अक्षरों में कहते हैं:

“सबसे प्राचीन नियोग में 7.53-8.11 नहीं है; अन्य नियोग में इस जगह या 7.36 के बाद या 21.25 के बाद या लूका 21.38 के बाद पाठ की विविधताओं के साथ यह गद्यांश है; कुछ लोग इसे संदिग्ध मानते हैं।"

मरकुस 16:9-20 के संबंध में, आश्चर्यजनक रूप से, हमें एक विकल्प दिया गया है कि हम कैसे मरकुस के इंजील को समाप्त करना चाहेंगे। टिप्पणीकारों ने "लघु अंत" और "लंबे अंत" दोनों दिए हैं। इस प्रकार, हमें एक विकल्प दिया जाता है कि हम किसे "ईश्वर के प्रेरित वचन" माने। एक बार फिर, इस इंजील के अंत में बहुत छोटे अक्षरों में टिप्पणीकारों ने कहा है:

"कुछ सबसे प्राचीन नियोग पद 8 के अंत में पुस्तक को समाप्त करते हैं। एक नियोग पुस्तक को छोटे अंत के साथ समाप्त करता है; अन्य छोटे अंत के बाद छंद 9-20 शुरू करते हैं। अधिकांश नियोगों में, पद 9-20 पद 8 के तुरंत बाद आते हैं, हालांकि इनमें से कुछ नियोग में इस अंश को संदिग्ध मानते हैं।"

बाइबिल के अभिलेख पर पीक की टिप्पणी;

"अब आमतौर पर यह सहमती है कि 9-20, मरकुस का मूल हिस्सा नहीं हैं। वे सबसे पुराने एमएसएस में नहीं पाए जाते हैं, और वास्तव में मत्ती और लूका द्वारा उपयोग की गई प्रतियों में स्पष्ट रूप से नहीं थे। 10वीं-सेंट। अर्मेनियाई एमएस ने गद्य को अरिस्टियन के रूप में वर्णित किया है, पापियास (ap.Eus.एचइ III, xxxix, 15) द्वारा उल्लिखित प्रेस्बिटर।"

"वास्तव में संत मार्क का एक अर्मेनियाई अनुवाद हाल ही में खोजा गया है, जिसमें संत मार्क के अंतिम बारह छंद अरिस्टन को दिए गए हैं, जिन्हें शुरुआती ईसाई पादरियों में से एक के रूप में जाना जाता है; और इसकी बहुत अधिक संभावना है कि यह सही हो"

एफ. केन्योन, आइरे और स्पॉटिसवूड द्वारा लिखित, आउर बाइबिल एंड द एन्सिएंट मनुस्क्रिप्टस, पृष्ठ 7-8

इसके बाद भी, इन छंदों को अलग-अलग "नियोगों" में अलग-अलग तरीके से वर्णित किया गया है। उदाहरण के लिए, पद 14 में टिप्पणीकारों ने कुछ "प्राचीन नियोगों" में निम्नलिखित शब्दों को जोड़ने का दावा किया है:

"और उन्होंने अपने आप को यह कहते हुए क्षमा किया कि, 'अधर्म और अविश्वास का यह युग शैतान के अधीन है, जो ईश्वर की सच्चाई और शक्ति को आत्माओं की अशुद्ध बातों पर प्रबल होने नहीं देता है। इसलिए, अब अपनी धार्मिकता प्रकट करें' - इस प्रकार उन्होंने मसीह से बात की और मसीह ने उन्हें उत्तर दिया 'शैतान की शक्ति के वर्षों की अवधि पूरी हो गई है, लेकिन अन्य भयानक चीजें निकट आ रही हैं। और जिन्होंने पाप किया है, उनकी वजह से मुझे मृत्यु आई ताकि वे फिर सच्चाई की ओर लौट जाएं, और फिर पाप न करें, कि वे उस धार्मिकता की आत्मिक और अविनाशी महिमा के अधिकारी हों, जो स्वर्ग में है।”

टिप्पणी

खराब श्रेष्ठ

इस लेख के भाग

सभी भागो को एक साथ देखें

टिप्पणी करें

  • (जनता को नहीं दिखाया गया)

  • आपकी टिप्पणी की समीक्षा की जाएगी और 24 घंटे के अंदर इसे प्रकाशित किया जाना चाहिए।

    तारांकित (*) स्थान भरना आवश्यक है।

इसी श्रेणी के अन्य लेख

सर्वाधिक देखा गया

प्रतिदिन
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
कुल
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)

संपादक की पसंद

(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)

सूची सामग्री

आपके अंतिम बार देखने के बाद से
यह सूची अभी खाली है।
सभी तिथि अनुसार
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)

सबसे लोकप्रिय

सर्वाधिक रेटिंग दिया गया
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
सर्वाधिक ईमेल किया गया
सर्वाधिक प्रिंट किया गया
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
इस पर सर्वाधिक टिप्पणी की गई
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)
(और अधिक पढ़ें...)

आपका पसंदीदा

आपकी पसंदीदा सूची खाली है। आप लेख टूल का उपयोग करके इस सूची में लेख डाल सकते हैं।

आपका इतिहास

आपकी इतिहास सूची खाली है।